-->

सुविचार हिंदी में best collection of suvichar anmol vachan in hindi

लोभी मनुष्य की कामना कभी पूरी नहीं होती    – वेदव्यास

मैं उसी को महात्मा कहता हूँ जिसका हृदय गरीबों के लिए रोता है, अन्यथा तो वह दुरात्मा है   – विवेकानं

जो अपने आप में विश्वास नहीं करता, वह नास्तिक है    – विवेकानंद

 धैर्य कड़वा है लेकिन उसका फल मीठा है   – रुसो

सर्वसाधारण जनता की उपेक्षा ही एक बड़ा राष्ट्रीय पाप है    – विवेकानंद
suvichar hindi me anmol vachan download

प्रसन्न व मधुर व्यक्ति सदैव सफल होता है।   – वाल्टेयर

संसार में सबसे ज्यादा दयनीय कौन है? जो धनवान होकर भी कंजूस है।  – विद्यापति

बिना अनुभव कोरा शाब्दिक ज्ञान अँधा है।   – विवेकानंद

संघर्ष न करना आधीनता का कारण बनता है।   – लुकमान

मनुष्य जीवन अनुभव का शास्त्र है।    – विनोबा भावे

प्रकृति की अपेक्षा अध्ययन के द्वारा अधिक व्यक्ति महान बने हैं।   – अज्ञात

अध्ययन हमें आनन्द प्रदान करता है, अलंकृत करता है और योग्यता प्रदान करता है।   – अज्ञात

प्रसन्नचित्त व्यक्ति अधिक जीते हैं।    – शेक्सपियर

विद्यार्थी की सच्ची सुंदरता उसके गुणों और योग्यता में है, न कि बाहरी फैशन में है।    – प्रेमचंद

शिष्टता की कोई कीमत नहीं होती परन्तु वह खरीद सबकुछ लेती है।    – स्वामी विवेकानंद

शिक्षा के बिना मनुष्य पशु के सामान है।     – महात्मा गाँधी

जितना ही हम अध्ययन करते हैं, उतना ही हमको अपने अज्ञान का आभास होता जाता है।     – शैले

विद्यार्थी की सच्ची सुंदरता उसके गुणों और योग्यता में है, न कि बाहरी फैशन में है।    – प्रेमचंद

अच्छी संतान इस लोक और परलोक दोनों में सुख देती है।   – कालिदास

नम्रता मनुष्य का आभूषण है।      – महात्मा गाँधी

उठो जागो और तब तक मत रुको जब तक तुम्हें लक्ष्य की प्राप्ति न हो।   – स्वामी विवेकानंद

सच्ची लगन को काँटों की परवाह नहीं होती है।    – प्रेमचंद

जीवन संघर्ष में मुझे कोई अवरुद्ध नहीं कर सकता, यदि मैं चाहूँ तो विशाल पर्वत भी मेरी प्रगति में बाधक नहीं बन सकते।  – मदनमोहन मालवीय

महान कार्य महान त्याग से ही हो सकते हैं।    – स्वामी विवेकानंद


Similar Topics

एक टिप्पणी भेजें