-->

दिल को छूने वाली कविताएं Heart touching hindi poetry

 Hindi poetry about life

आज हमने एक लड़की को औरत बनते देखा

बेटी से बहु बनते देखा खिलौनों से खेलने वाली

खुद खिलौना बन के आएगी सपने देखते देखते

हकीकत बनके आएगी जिन कंधो पे कभी

स्कूल का बेग था उन कंधो पे कभी घर की


ज़िम्मेदारी उठाते देखा कच्ची उम्र में रिस्तो

का बोझ उठाते देखा थी कभी घर की

लाड़ली उसे रिस्तो की बेरियो में जकड़े देखा

बेटी को बहु और बहु को माँ बनते देखा।

कभी माँ बाप कभी सोहरत कभी बच्चो के लिए

अपनी ज़िंदगी लुटाते देखा। आज मैं एक लड़की को

औरत बनते देखा।



hindi poetry about love

मैं भूल जाउ तुम्हे यही मुनासिब है

मगर भूलना भी चाहु तो किस तरह भूलू

की तुम तो फिर भी हकीकत हो कोई खाब नहीं।

यंहा तो दिल का ये आलम है क्या कहु कम्वख्त

भुला सका मैं ये सिलसिला जो कभी था ही नहीं।

वो ख्याल जो आवाज़ तक गया ही नहीं

एक बात बात जो मैं कह नहीं सका मैं

वो एक रब्त सम्बंद जो हमने कभी रहा ही नहीं

मुझे है वो याद सब जो कभी हुआ ही नहीं।



hindi poetry sad

गलियों गलियों में मुझे ढूंढोगे तो याद आऊंगा

जब भी इस शहर को लौटोगे तो याद आऊंगा।

तुम मेरी आँख के तेवर न भुला पावोगे

अनकही बात को समझोगे तो याद आऊंगा।

हमने खुशियों की तरह दुःख भी इकठे देखे

सफाई जिसको पलटोगे तो याद आऊंगा।

इस जुदाई में तुम अंदर से बिखर जाओगे

किसी बाजुओं को देखोगे तो याद आऊंगा।


इसी अंदाज में होते थे मुनाताप मुझसे

खत किसी और के लिखोगे तो याद आऊंगा।

मेरी खुशबु तुम्हे गुलेगी गुलाबो की तरह

तुम अगर खुद से न बोलोगे तो याद आऊंगा।

सर्द रातो के महकते हुए सन्नाटो में

जब किसी फूल को चूमोगे तो याद आऊंगा।


mother poetry in hindi

माँ ने बड़ी प्यार से आँखों में लगाया था काजल

दरिंदो जबरदस्ती इसे यु न उतारा करो।

और मैं खुद यु ही शिवा बनुगी और काली बन जाउंगी

मौत का तांडव भी करुंगु और लाशे भी बिछा जाउंगी।

क्या कहते हो दफ़नाने की जगह

स्मासान भी राख कर जाउंगी।


Hindi Kavita on feelings

हाल दिल का उससे सुनते हुए

रो पड़ा था मैं मुस्कुराते हुए।

भीगती जा रही थी एक लड़की

बरिसो में नशा मिलाते हुए।

आसमां तक चला गया था मैं

एक दिन रास्ता बनाते हुए।

देर तक जब उदास रह लू तो

अच्छा लगता है मुस्कुराते हुए।



Beautiful Hindi Kavita

हमे तो आखिर देखना ये है की रहेगी लहजे धार कब तक

तुम्हारी लब्जो की कैंचियों से होंगे परिंदे शिकार कब तक।

जो साँस सीने में आ रही है कजा की पैगाम ला रही है

पियेंगे हम भी ये आस्क कब तक

पियोगे तुम भी सिगार कब तक।

heart touching poem and poetry in hindi

Best Heart Touching Poetry

तुम्हारे अंदाज़ बदल गए कोई बात है न

और तुम्हारी पहली मोहब्बत मैं हु तुम्हे याद है न

तुमने पकड़ा हाथ किसी और का तुम चल पड़ी

दुनिया तुम्हे हसीं लगी तुम निकल पड़ी

धोखा तुमने दिया है तुम्हे भी मिलेगा।


जैसा बीज बोओगे वही मिलेगा

दुनिया की रिवायत है चलती रहती है

जवानी का क्या है ढलती रहती है।

आज मुझे हराकर तुम जीत जाओगी

लेकिन मेरा दावा है बुढ़ापे तक मेरा गीत गाओगी।

Please Select Embedded Mode To Show The Comment System.*

और नया पुराने