-->

दर्द भरी कविता शायरी Sad Shayari Poetry in hindi

Sad Shayari Poetry - दोस्तों जिंदगी के कई पहलु हैं।  दुःख-सुख, मिलना-बिछड़ना, गम-ख़ुशी इन सभी पहलुओं पर शायरों ने कई कवितायेँ और शायरी लिखी है। जिन्हे आप समय समय पर इंटरनेट के माध्यम से Google में सर्च करते है। हमारी वेबसाइट ने बहुत दर्द भरे poetry  और shayari आपके लिए कलेक्ट कर के इस पेज में पब्लिश की है। जिसे आप अपने whatsapp status, fb post, Instagram,  sharechat, के द्वारा दोस्तों के साथ शेयर कर सकते है।   

तम्मना है मेरे दिल की 
हर पल साथ तुम्हारा हो 
जितनी भी सांसे चलें 
हर साँस पर नाम सिर्फ 
तुम्हारा हो 

heart touching shayari poetry

______________________________

एक ये ख्वाहिश के 

कोई जख्म न देखे दिला का 

एक ये ख्वाहिश 

काश कोई देखने वाला होता 

____________________________________

चल मेरे हमनशीं अब और कहीं चल 

इस चमन में अब अपना गुजरा नहीं 

बात गुलों की होती तो सह लेते 

अब काँटों पे भी हक़ हंजारा नहीं 

______________________________

 न कोई वक़्त है मेरे सोने का 

न कोई वक़्त है मेरे रोने का

कभी रोते हुए सोते हैं हम 

कभी सोते हुए रोता हैं हम 

____________________________________

लुटा दिए सरे तरीके मैंने 

तुमसे नज़रे मिलाने के 

अब ढून्ढ लो भने तुम भी 

मेरे करीब आने के 

____________________________________

बड़ी तब्दीलियां लाया हूँ 

मैं अपने आप में लेकिन

बस तुम्हे याद करने की 

वो आदत अब  भी बाकी है 

_________________________________

ये बेवफा बफा की कीमत क्या जाने 

जिन्हे मिलता हो हर मोड़ पर हमसफ़र

वो भला प्यार की कीमत क्या जाने 

_________________________________

मेरे प्यार की दास्ताँ में 

अगर तेरा नाम नहीं तो

फिर जिंदगी में मेरी कोई 

प्यार की दास्ताँ ही नहीं 

_____________________________

बफा वालों ने लुटा 

बहुत इस दिल को

चलो अब किसी बेवफा 

से दिल लगाते हैं 

______________________________

न हाथ थाम सके 

न पकड़ सके दामन

बहुत ही करीब से 

गुजर कर बिछड़ गया कोई

____________________________________

न साथ है किसी का 

न सहारा है कोई 

न हम हैं किसी के 

न हमारा है कोई 

____________________________________

तकलीफ ये नहीं तुम्हे 

अजीज़ कोई और है 

दर्द तब हुआ जब हम

नज़रअंदाज़ किये गए

____________________________

न परख मेरी मुहब्बत को 

दुनिया की दौलत के तराजू में 

सच तो ये है की बफा

करने वाले अक्सर गरीब होते हैं 


____________________________

काफिर है दिल, इश्क खुदा सा 

तारीफ क्या उसकी नूर फ़िज़ा सा 

शक नहीं, यकीनन वो कोई रसूल है 

मैं एक दर्द, मेरा यार दुआ सा 

____________________________________

कुछ लोगो को कितना भी 

अपना बनाने की कोशिश कर लो

लेकिन वो साबित कर देते है की 

वो गैर हैं 

____________________________________

जिंदगी की राहों में मिले होंगे 

तुझे हजारों मुसाफिर

लेकिन उम्र भर जिसे न भूल पाओगे 

वो मुलाक़ात हूँ मैं 

_____________________________

दर्द कितना है बता नहीं सकते

जख्म कितने है दिखा नहीं सकते 

आँखों से समझ सको तो समझ लो

आंसू गिरे कितने गिना नहीं सकते 

_______________________________

इस दिल को किसी की आस रहती है 

आँखों को किसी के दीदार की प्यास रहती है 

तेरे बिना किसी चीज की कमी तो नहीं 

पर तेरे bgair जिंदगी बड़ी उदास रहती है

__________________________________

मुहब्बत के भी कुछ अंदाज़ होते हैं 

खुली आँखों के भी कुछ ख्वाब होते हैं 

जरुरी नहीं गम ही आंसू निकले 

मुस्कुराती आँखों में भी सैलाब होते हैं 

________________________________

तेरी यादें रोज़ मुझसे मिलने अति हैं

मुस्कुराकर हर रोज़ उन्हें 

रुखसत कर देता हूँ 

________________________________

जिंदगी बोली तू 

कितना रो सके है 

मैं बोलै तू अपनी बता

 तू कितना रुला सके है 

____________________________________

मुस्कुराना हर किसी के 

बस की बात नहीं 

मुस्कुरा वही सकता है 

जो दिल के अमीर हो 

____________________________________

छोड़ दिया मैंने भी किसी 

को परेशान करना, 

जिसकी खुद मर्ज़ी न हो 

बात करने की उससे 

जबरदस्ती क्या करना 

____________________________________

मेरा दिल शिकायत करना नहीं 

चाहता तुमसे लेकिन न जाने 

क्यों मुझे महसूस होता है 

तुम पहले जैसे नहीं रहे 

____________________________________

मत चाहो किसी को इतना 

की बाद में रोना पड़े

क्यों की ये दुनिया दिल से नहीं 

जरुरत से प्यार करती है 

____________________________________

कुछ दर्द ऐसे भी होते हैं 

जिंदगी में 

जो हम सह तो सकते है 

लेकिन कह नहीं सकते 

____________________________________

कभी किसी के साथ 

इतनी उम्मीद न रखो की 

उम्मीद के साथ 

खुद भी टूट जाओ 

____________________________________

जिंदगी खूबसूरत है पर जीना नहीं आता 

हर चीज में नशा है पर पीना नहीं आता 

सब मेरे बगैर जी सकते है लेकिन 

मुझे किसी के बगैर जीना नहीं आता 

____________________________________

जो दर्द की बजह है 

वही मरहम क्यों है 

ख़ामोशी

बेचैनी,और आवारापन 

दिल में ये दफन क्यों है 

_______________________________

New sad Love poetry in hindi 

हम मिल न सके तो क्या हुआ

मेरी मुहब्बत न भुलाई जाएगी

रकीब जब भी करेंगे प्यार तुमको

तुमको  मेरी याद भी आ जाएगी 

छुएंगे लबों से लब वो भी पर

कशिश वो न कोई दिला पायेगी

बसल की रात में तेरी ख़ामोशी

फ़िक्र ऐ यार बड़ा जाएगी

जब यारों की  महफ़िल जमेगी

तब जुबान पर बात तेरी आएगी

मुझे सच्चा आशिक कहेंगे लोग

और तू बेवफा कहलाएगी 

________________________________

Lates  heart touching sad poetry in hindi

बात बात पर तरार करते हो 

तुम ये कैसा प्यार करते हो 

रूठ जाते हो हर बात पर

गुस्सा भी बेशुमार करते हो 

बातें करते हो छोड़ जाने की

ये मुहब्बत भी कमाल करते हो

लग न जाये जिस्म पर घाव कहीं

तुम लफ्ज़ो से ऐसे बार करते हो

अपनी गलतिओ को छुपाने के 

तरीके हजार रखते हो 

साथ मेरे रहते हो बाटे गैरों से करते हो 

महसूस करते हैं तुम्हारे जज्बातों को 

क्या तुम प्यार किसी और से करते हो 


Similar Topics

एक टिप्पणी भेजें